गुड़ के स्वास्थ्य लाभ जो सभी को पता होने चाहिए

सर्दियों में ताजा गुड़ खाना बहुत ही लाभदायक होता है। यह विटामिन से भरपूर होता है, रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और शरीर को गर्म रखता है। यह शरीर के तापमान को नियंत्रित करके सर्दी और खांसी के इलाज में मदद करता है। यह एक प्राकृतिक स्वीटनर है। 

गुड़ कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से भरपूर है, आइए एक नज़र डालते हैं कि गुड़ का एक छोटा सा टुकड़ा खाने से हम कौन से पोषक तत्व प्राप्त कर सकते हैं –

गुड़ के पोषक तत्व

100 ग्राम गुड़ में लगभग होता है –

कैलोरी383
कार्बोहाइड्रेट98.0 ग्राम
फैट 0.1 ग्राम
प्रोटीन0.4 ग्राम
मिनरल्स   कैल्शियम (80.0 मिलीग्राम), आयरन (5.4 मिलीग्राम), मैग्नीशियम (160 मिलीग्राम),
फास्फोरस (40.0 मिलीग्राम), पोटेशियम (140 मिलीग्राम),
सोडियम (30.0 मिलीग्राम), सेलेनियम (1.4 मिलीग्राम)
विटामिन्सनियासिन (2.0 मिलीग्राम), विटामिन बी6 (0.4 मिलीग्राम),
पैंटोथेनिक एसिड (1.0 मिलीग्राम) 

 

गुड़ के स्वास्थ्य लाभ

1.खून को साफ़ करता है

गुड़ का सबसे मुख्य लाभ यह है कि यह रक्त को शुद्ध करता है। इसका नियमित रूप से और सीमित मात्रा सेवन करने से यह खून को साफ करता है, शरीर को स्वस्थ रखता है। स्वच्छ रक्त का अर्थ है स्वस्थ शरीर।

2. लिवर को डीटॉक्स करता है  

गुड़ प्राकृतिक रूप से शरीर की सफाई करता है और लीवर की मेहनत को कम कर देता है। यह शरीर से हानिकारक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर लीवर को साफ करता है, इस प्रकार यह लीवर को डिटॉक्सीफाई करता है।

3. कब्ज को दूर करता है 

गुड़ शरीर में पाचन एंजाइमों को सक्रिय करता है, इस प्रकार यह कब्ज को रोकता है। दोपहर के भोजन के बाद गुड़ का एक छोटा टुकड़ा पाचन को ठीक करता है और संपूर्ण स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है।

4. इम्युनिटी बूस्टर 

गुड़ एंटीऑक्सिडेंट और जिंक, सेलेनियम जैसे मिनरल्स से भरपूर होता है। यह मुक्त कण की क्षति को रोकने में मदद करता है और संक्रमण के खिलाफ लड़ने में मदद करता है। गुड़ रक्त में हीमोग्लोबिन को बढ़ाने में मदद करता है।

5. जोड़ों के दर्द को कम करता है

जोड़ों के दर्द या गठिया से पीड़ित लोगों को गुड़ से काफी राहत मिलती है। बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए अदरक के साथ इसका सेवन किया जा सकता है।

6. ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में सहायक

लो या हाई ब्लड प्रेशर, दोनों ही सेहत के लिए अच्छे नहीं हैं। अच्छे स्वास्थ्य के लिए रक्तचाप को नियमित बनाए रखना आवश्यक है। गन्ना, जिससे गुड़ प्राप्त होता है, सोडियम और पोटेशियम से भरपूर होता है। ये दोनों मिनरल शरीर में रक्तचाप को नियंत्रित करने में फायदेमंद होते हैं।

7. ऊर्जा का अच्छा स्रोत

जहां चीनी शरीर को अल्पकालिक ऊर्जा प्रदान करती है, वहीं गुड़ धीरे-धीरे ऊर्जा प्रदान करता है, जो लंबे समय तक चलती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि गुड़ रिफाइंड नहीं होता है, इसलिए यह रक्त शर्करा का स्तर तुरंत नहीं बढ़ाता है।

8. आंतों का स्वास्थ्य बढ़ाने में सहायक

मैग्नीशियम में उच्च होने के कारण गुड़ आंतों की ताकत को बढ़ाता है। हर 10 ग्राम गुड़ में लगभग 16 मिलीग्राम मैग्नीशियम होता है ,जो शरीर के लिए दैनिक आवश्यकता का 4 प्रतिशत है।

9. एनीमिया को रोकता है

गुड़ आयरन और फोलेट से भरपूर होता है, जो एनीमिया को रोकने में मदद करता है। यह गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद होता है। यह लाल रक्त कोशिकाओं के सामान्य स्तर को बनाए रखता है और शरीर को तुरंत ऊर्जा प्रदान करता है।

10.महिलाओं में मासिक धर्म के दर्द से राहत देता है

मासिक धर्म की समस्याओं विशेषकर दर्द के लिए गुड़ एक पौष्टिक और प्रभावी उपचार है। मासिक धर्म के दौरान अचानक मूड स्विंग के लिए या  पीएमएस के लक्षणों के लिए गुड़ का एक छोटा टुकड़ा खा सकते हैं, क्योंकि यह एंडोर्फिन को रिलीज करता है। एंडोर्फिन प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम को रोकते हैं और शरीर को आराम पहुंचाते हैं।

11. वजन घटाने में मदद करता है

आहार में गुड़ को शामिल करने से वज़न कम करने में मदद मिल सकती है। गुड़ न सिर्फ मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है बल्कि यह शरीर में वॉटर रिटेंशन को भी रोकता है। गुड़ में पोटेशियम की मात्रा इलेक्ट्रोलाइट्स को संतुलित करने में मदद करती है, जो मांसपेशियों के निर्माण में मदद करती है। गुड़ से कुछ अवांछित वज़न कम किया जा सकता है।

गुड़ खरीदते वक्त इन बातों का ध्यान रखें

  1. गुड़ के एक टुकड़े को चखें ; इसका स्वाद नमकीन नहीं आना चाहिए। यदि ऐसा होता है, तो इसमें मिनरल साल्ट अधिक है । नमकीन स्वाद से  गुड़ ताजा है या नहीं यह भी पता लगाया जा सकता है अगर गुड़ का स्वाद नमकीन आता है तो वह पुराना है।
  2. यदि गुड़ में कड़वाहट है, तो इसका मतलब है कि यह उबालते वक्त  कारमेलिसाइजेशन किया गया  है।
  3. गुड़ की दरदरेपन के लिए जाँच करें- दरदरापन होने की उपस्थिति यह बताती है कि गुड़ को मीठा बनाने के लिए किन्ही अन्य प्रक्रियाओं से गुजारा गया हो सकता है।
  4. शुद्धता को पहचानने में गुड़ का रंग भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आमतौर पर  गुड़ का रंग गहरा भूरा होना चाहिए। गुड़ में पीला रंग रासायनिक उपचार का संकेत देता  है।
  5. कठोर गुड़ खरीदना चाहिए ; यह सुनिश्चित करता है कि गन्ने के रस को उबालते समय इसमें कुछ मिलावट नहीं की गई है ।

Recommended For You

Avatar

About the Author: Kusum Kaushal

कुसुम कौशल ने उत्तराखंड में स्थित विश्वविद्यालय (हेमवती नंदन बहुगुणा यूनिवर्सिटी) से इकोनॉमिक्स में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है। हिंदी उनकी मूल भाषा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
Table of Content