कब्ज़ की समस्या को कैसे दूर करें

कब्ज आंतों से जुड़ी एक समस्या है। कब्ज की समस्या आहार या दिनचर्या में बदलाव के कारण या फाइबर के अपर्याप्त सेवन के कारण,कम मात्रा में पानी पीना, तनाव,अनियमित जीवन शैली,पर्याप्त व्यायाम न करना इनमे से किसी भी कारण से हो सकती है। आइये कब्ज़ को दूर करने के कुछ सरल उपायों के बारे में जानते हैं। 

पानी  – कम पानी पीना कब्ज का एक सामान्य कारण है, और पर्याप्त पानी पीने से अक्सर लक्षणों को कम करने या हल करने में मदद मिलती है।

जब कोई व्यक्ति कम पानी पीता है , तो उनकी आंतें मल में पर्याप्त पानी नहीं पहुंचा पाती हैं। परिणामस्वरूप यह कारण कब्ज पैदा कर सकता है। समस्या से निजात के लिए निश्चित मात्रा में पानी पियें।

गेहूं का चोकर – गेहूं का चोकर कब्ज के लिए एक और लोकप्रिय घरेलू उपाय है। इसमें अघुलनशील फाइबर होता है, जो आंतों के माध्यम से सामग्री के प्रवाह को तेज कर सकता है।

2013 के एक अध्ययन में पाया गया कि 2 सप्ताह तक हर रोज गेहूं की भूसी वाले नाश्ते के अनाज को खाने से आंत्र क्रिया में सुधार होता है और  कब्ज की समस्या कम होती है।

इन फलों को खाएं 

सेब और नाशपाती – सेब और नाशपाती में कई कंपाउंड होते हैं जो पाचन में सहायक होते  हैं, जैसे की  फाइबर, सोर्बिटोल और फ्रुक्टोज। इन फलों में पानी की मात्रा अधिक होती है, जो पाचन को आसान बनाने और कब्ज को रोकने में मदद करती है। सेब और नाशपाती काअधिक लाभ लेने के लिए, इन्हे छिलके समेत खाएं। 

अंगूर -अंगूर फाइबर से भरपूर होते हैं, और उनमें बहुत सारा पानी भी होता है। कब्ज को कम करने के लिए, मुट्ठी भर अंगूर खाएं।

कीवी -औसतन 100 ग्राम कीवी में लगभग 2-3 ग्राम फाइबर होता है, जो आंतों के प्रवाह को तेज करता है। कीवी में एक्टिनिडाइन भी होता है और कई फाइटोकेमिकल्स होते हैं जो पाचन में सुधार लाते हैं ।

दही

दही में माइक्रोऑर्गेनिस्म होते हैं जिन्हें प्रोबायोटिक्स कहा जाता है। प्रोबायोटिक्स को “अच्छा” बैक्टीरिया माना जाता है, और ये  पेट के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने कब्ज के इलाज के लिए पॉलीडेक्स्ट्रोस, लैक्टोबैसिलस एसिडोफिलस और बिफीडोबैक्टीरियम लैक्टिस युक्त एक अनफ़िल्टर्ड प्रोबायोटिक दही के उपयोग की जांच की जिसमे पता चला है की यह समस्या को ठीक करने में सहायक होता है।  

शहद

एंजाइमों से भरा शहद  पाचन स्वास्थ्य में सहायक होता है, शहद एक लेक्सेटिव भी है। जब सादा लिया जाता है या चाय, पानी या गर्म दूध में डालकर लिया जाता है, तो शहद कब्ज की समस्या को दूर करने में सहायक होता है। 

फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ 

पर्याप्त फाइबर खाने से  पाचन तंत्र स्वस्थ्य रहने के साथ-साथ यह वजन घटाने में भी मदद मिलती है। फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों में अक्सर घुलनशील और अघुलनशील फाइबर दोनों होते हैं। ओटमील, अलसी, साबुत अनाज, फल, बीन्स, चोकर और सब्जियां जैसे खाद्य पदार्थ  फाइबर स्रोत प्रदान करते हैं जो जो समस्या को कम करने में सहायक होते हैं।

आहार में इन्हे भी शामिल करें -पालक या पालक का सूप,बथुआ ,पुदीना,मेथी ,टमाटर,नींबू पानी ,भिगोई हुई मुनक्का,अंजीर ,खजूर इत्यादि।

Recommended For You

Avatar

About the Author: Kusum Kaushal

कुसुम कौशल ने उत्तराखंड में स्थित विश्वविद्यालय (हेमवती नंदन बहुगुणा यूनिवर्सिटी) से इकोनॉमिक्स में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है। हिंदी उनकी मूल भाषा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »