मोटापा कम करने के आसान तरीके

आज कल हम में से बहुत से लोग मोटापे की समस्या से परेशान है। इस परेशानी के कारण वे यह निश्चित नहीं कर पाते की इससे निजात पाने का सुरक्षित एवं स्वाभाविक तरीका कौन सा है विशेष रूप से उन कंपनियों से संबंधित जो दवाओं या अन्य वजन घटाने वाले उत्पादों को बेचते हैं, और वजन कम करने के लिए गलत सूचना को बढ़ावा देते हैं। यह दवाएं हो सकता है एक बार तेज़ी से हमारा वज़न कम कर दें पर ये हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव भी डालती है। 

संरक्षित किये गए डिब्बा बंद(पैकेट फ़ूड ) खाद्य पदार्थ खाने से बचे 

प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ में सोडियम, वसा, कैलोरी और चीनी अधिक मात्रा में होती है। उनमे ताज़े खाद्य पदार्थों की तुलना में कम पोषक तत्व होते हैं। एक रिसर्च से पता चला है की प्रॉसेस्ड फ़ूड एक नशे की तरह होते है जिस प्रकार नशे की लत वाला व्यक्ति नशे को बार बार लेता है उसी प्रकार प्रॉसेस्ड फ़ूड खाकर उसे बार बार खाने की इच्छा होती है और व्यक्ति ज्यादा खाता है और ये भोजन सोडियम, वसा, कैलोरी और चीनी की अधिक मात्रा होने के कारण मोटापा बढ़ाता है।

पर्याप्त मात्रा में पानी पिए(8-10 गिलास ) 

पानी सबसे बेहतरीन तरल पदार्थ है जिसे हम दिन भर पी सकते है। इसमें कोई कैलोरी नहीं होती है और यह स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है। जब कोई व्यक्ति दिन भर पानी पीता है, तो पानी उनके मेटाबोलिज्म  को बढ़ाने में मदद करता है। यदि हम  मीठे  पेय पदार्थों के स्थान पर सादा पानी पीते हैं, तो इससे हम दिन भर में ली जाने वाली  वाली कैलोरी की कुल संख्या को कम कर सकते है। 

एक कप गुनगुने पानी में आधे नींबू का रस और दो चम्मच शहद मिलाकर पीने से मोटापा दूर होता है

भोजन के तुरंत बाद पानी न पीएं बल्कि भोजन करने के एक घंटे बाद पानी पीएं चाय कॉफी व मीठे पदार्थ का सेवन कम कर दें या फिर भोजन करने के बाद गर्म पानी घूँट घूँट करके चाय की तरह पियें इस प्रकार पानी पीने से शरीर का मोटापा घटकर शरीर संतुलित हो जाता है यह प्रयोग एक डेढ़ महीने से ज्यादा न करें । इससे गैस,कब्ज़ बड़े हुए पेट इत्यादि की समस्या भी दूर होती है।

फल और सब्जियां अधिक खाएं

फल और सब्जियां बहुत हेल्थी आहार है , वजन घटाने के लिए बहुत फायदेमंद खाद्य पदार्थ हैं। पानी, पोषक तत्वों और फाइबर से भरपूर होने के अतिरिक्त इन्हे अधिक मात्रा में खाया जा सकता है क्योंकि इनमे ज्यादा  कैलोरी नहीं  होती है और पोषण अधिक मिलता है । कई अध्ययनों से पता चला है कि जो लोग अधिक फल और सब्जियां खाते हैं उनका वजन ज्यादा नहीं बढ़ता है ।

रिफाइंड कार्ब्स के सेवन को कम करें

रिफाइंड कार्ब्स ऐसे कार्ब्स होते हैं, जिनमें से उनके अधिकांश लाभदायक पोषक तत्व और फाइबर हटा दिए जाते है । शोधन प्रक्रिया कुछ आसानी से पचने वाले कार्ब्स को छोड़कर बाकि सब कुछ नष्ट कर देती है , जिससे ओवरइटिंग और बीमारी का खतरा बढ़ सकता है । रिफाइंड कार्ब्स के मुख्य आहार स्रोत हैं मैदा , सफेद चावल, सोडा, पेस्ट्री, स्नैक्स, मिठाई, पास्ता इत्यादि। 

अपने आहार में प्रोटीन को शामिल करें

अगर वज़न कम करना चाहते है तो आहार में प्रोटीन को शामिल करें।  उच्च-प्रोटीन आहार से आपका पेट काफी समय तक भरा रहता है और बार बार खाने की इच्छा नहीं होती ।नाश्ते में उच्च प्रोटीन वाला आहार खाने से अच्छा प्रभाव मिल सकता है। 

फाइबर युक्त भोजन  खाएं

हमारा  शरीर फाइबर को पचाने में समय लेता है और हम  थोड़ी देर के लिए पेट भरा  हुआ महसूस करते हैं। यह हमारे  शरीर में भोजन से पोषक तत्वों को अवशोषित करने में भी मदद करता है। अपने दैनिक आहार में साबुत अनाज शामिल करें।  यदि आपको चावल पसंद है, तो सफ़ेद की जगह  ब्राउन राइस ले ।

आठ घंटे की पर्याप्त नींद ले 

यह एक सरल कदम है जिसे हर कोई थोड़े से अभ्यास के साथ आसानी से पालन कर सकता है। प्रत्येक दिन 8 घंटे की नींद लेने का प्रयास करें। वजन कम करने के लिए उचित आहार बनाए रखने के साथ साथ यह भी आवश्यक है। नींद शरीर के कार्यों और उचित पाचन में सहायता को नियंत्रित करती है। यह शरीर के सामान्य मेटाबोलिस्म को बनाए रखने में भी मदद करती है, जो हमारे शरीर से अतिरिक्त फेट को हटाने  लिए आवश्यक है।

अच्छा नाश्ता खाएं

नाश्ते को कभी छोड़ना नहीं चाहिए हैल्थी प्रोटीन वाला नाश्ता खाएं, इससे आप दिन में अपनी भूख को नियंत्रित कर सकेंगे हम मे से कई लोग नाश्ता नहीं खाते है। उनकी यह आदत वजन घटाने के बजाय उसे बड़ा देती है।

शहद और दालचीनी की चाय 

शहद और दालचीनी की चाय तैयार करने के लिए, एक गिलास पानी गर्म करें। गुनगुने पानी में 1/4 चम्मच दाल चीनी पाउडर और एक चम्मच शहद मिलाएं। अच्छी तरह से हिलाएं  रोज सुबह खाली पेट दालचीनी और शहद वाला गुनगुना पानी पिएं। यह घर पर आपके वजन घटाने में अद्भुत काम करेगा।

Recommended For You

Avatar

About the Author: Kusum Kaushal

कुसुम कौशल ने उत्तराखंड में स्थित विश्वविद्यालय (हेमवती नंदन बहुगुणा यूनिवर्सिटी) से इकोनॉमिक्स में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है। हिंदी उनकी मूल भाषा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »