नारियल सिरके के फायदे

नारियल सिरका क्या होता है ?

नारियल के रस से नारियल का सिरका बनाया जाता है। इसे खमीर किया जाता है। यह खमीर एसिटिक एसिड बनाता है, जो इसे बढ़िया स्वाद देता है। नारियल का सिरका आंत के माइक्रोबायोम के पोषण के लिए बहुत अच्छा है, क्योंकि यह प्रोबायोटिक्स का अच्छा स्रोत है। इसे टुबा सिरका या गोआ का सिरका भी कहा जाता है।

आर्गेनिक नारियल का सिरका स्वादिष्ट होता है, इसके कई लाभ भी हैं, विशेषज्ञों के अनुसार यह पेट की समस्याओं को ठीक करने के लिए बहुत अच्छा है, इसमें प्रोबायोटिक पेय के सभी गुण होते है, यह भूख को बढ़ाने में मदद करता है।

सदियों से सेब साइडर सिरका स्वास्थ्य लाभों के कारण फिटनेस का ध्यान रखने वाले लोगों में काफी लोकप्रिय है। सेब साइडर सिरका और नारियल सिरका दोनों ही स्वास्थ्य के लिए समान रूप से लाभदायक हैं और इन्हें वैकल्पिक रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है।

नारियल ने सुपरफूड के रूप में दुनिया भर में लोकप्रियता हासिल की है। दक्षिण पूर्व एशियाई लोग लंबे समय से सभी नारियल उत्पादों को बहुत पसंद करते हैं। अब पश्चिमी देश भी इसके चमत्कारी गुणों को जान गए हैं, नारियल और नारियल उत्पादों की मांग बढ़ती जा रही है।

नारियल के तेल को खाना पकाने के लिए स्वस्थ्य तेल माना जाता है। नारियल के दूध का उपयोग कई व्यंजनों में दूध के विकल्प के रूप में किया जा रहा है। एक नारियल उत्पाद जो अभी सुर्खियों में आ रहा है, वह है – नारियल सिरका।

नारियल सिरके ने स्वास्थ्य और फिटनेस के प्रति जागरूक लोगों के बीच काफी प्रसिद्धि प्राप्त की है। गोवा के कई व्यंजनों में इसका उपयोग किया जाता है। यह सेब साइडर सिरका की तुलना में स्वाद में कम तीखा होता है। यह सफ़ेद रंग का होता है। गोवा के पारंपरिक व्यंजन जैसे विंदालू और सोरपोटेल बनाने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

नारियल का सिरका प्रोबायोटिक्स, बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन और अमीनो एसिड से भरपूर, यह आँतों के कार्य को संतुलित रखता है और इम्म्यून फंक्शन का समर्थन करता है। यह सुपरफूड प्राकृतिक रूप से फरमेंट होता है, इसलिए इसके पोषण मूल्य  बरकरार रहते हैं।

 

नारियल सिरके के लाभ

कुछ शोधों के अनुसार, नारियल के सिरके में उच्च स्तर के अमीनो एसिड, प्रोबायोटिक्स और एंजाइम होते हैं। नारियल के सिरके में पर्याप्त मात्रा में एसिटिक एसिड होता है, इसलिए इसे डायबिटीस के मरीजों के लिए लाभदायक माना जाता है, क्योंकि यह शुगर के स्तर को नहीं बढ़ाता है।

नारियल के सिरके में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो वजन को प्रबंधित करने में मदद करते हैं। नारियल सिरके में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते है। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट और मिनरल्स  होते हैं। नारियल के सिरके में पोटेशियम, आयरन, ज़िंक और कैल्शियम जैसे तत्व होते हैं।

इसे दैनिक भोजन में सलाद के लिए ड्रेसिंग के रूप में शामिल किया जा सकता है, इसे सेब साइडर सिरका की तरह केवल पानी और शहद के साथ मिलाकर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। 

1. प्रोबायोटिक्स, पॉलीफेनोल्स और पोषक तत्वों से भरपूर

नारियल का सिरका न केवल पोटेशियम, विटामिन सी, जिंक, बोरॉन, कॉपर, मैग्नीशियम, मैंगनीज, कोलाइन, बी विटामिन, फास्फोरस और आयरन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है , बल्कि इसमें विभिन्न प्रकार के पॉलीफेनोल्स भी होते हैं, जो हृदय के लिए अच्छे हैं और डायबिटीस के रोगियों के लिए लाभदायक हैं।

2. लिवर को स्वस्थ रखता है

यह लिवर के कार्य में सुधार करता है और उसे स्वस्थ रखता है। नारियल का सिरका इन्फ्लेमेशन को कम करके और एंटीऑक्सीडेंट गतिविधि बढ़ाकर लिवर को क्षति पहुँचने से बचाता है। 

3. हृदय के स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद करता है

नारियल के सिरके में सेब के सिरके के समान गुण होते हैं। नारियल का सिरका हृदय स्वास्थ्य को भी बढ़ावा देता है क्योंकि यह कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को कम करता है। 

4. बीमारी और संक्रमण से बचाता है

नारियल के सिरके में जीवाणुरोधी और रोगाणुरोधी गुण होते हैं, जो बीमारी और संक्रमण को दूर करने में मदद करते हैं।

 5. पाचन क्रिया में सहायक

नारियल के सिरके में लाभकारी एंजाइम और प्रोबायोटिक्स होते हैं। जो स्वस्थ पाचन का समर्थन करते हैं और प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) को मज़बूत करते हैं। नारियल के सिरके में कुछ अमीनो एसिड भी होते हैं, उन सभी का शरीर पर क्षारीय प्रभाव पड़ता है।

6. वजन घटाने में सहायक

नारियल के सिरके में शून्य कैलोरी या चीनी होती है। यह भूख को दबाने में मदद कर सकता है, क्योंकि इसमें एसिटिक एसिड होता है। यह पूरे दिन में 200 कम कैलोरी का उपभोग करने में मदद कर सकता है।

7. कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई)

नारियल के सिरके का ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) स्केल पर 35 होता है। यह मधुमेह रोगियों के लिए उपयुक्त है, क्योंकि ग्लाइसेमिक इंडेक्स कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों को वर्गीकृत करता है, जिसका अर्थ है कि यह रक्त शर्करा के स्तर को स्पाइकिंग से बचाने में सहायता करेगा। 

ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है। नारियल के सिरके में एसिटिक एसिड होता है, जिसे रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने और इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करने के लिए जाना जाता है।

8. त्वचा के लिए लाभ

नारियल के सिरके का उपयोग काले घेरे, मुँहासे के निशान, काले धब्बे और झुर्रियों को ठीक करने के लिए किया जाता है।

नारियल या सेब साइडर सिरका कौन सा बेहतर है ?

कुछ बुनियादी तुलनाएँ इस प्रकार हैं – 

1. दोनों कीमत में लगभग समान हैं।

2. एप्पल साइडर विनेगर एक हल्के भूरे रंग का होता है, जबकि नारियल का सिरका सफ़ेद रंग का होता है।

3. नारियल का स्वाद थोड़ा मीठा होता है और सेब के सिरके की तुलना में अधिक स्वादिष्ट होता है।

4. नारियल सिरका, एप्पल साइडर सिरके की तुलना में  पौष्टिक माना गया है। अगर तुलना की जाए, तो नारियल के सिरके में सेब साइडर सिरके की तुलना में अमीनो एसिड(17), मिनरल्स और विटामिन्स अधिक होते हैं। लेकिन यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि नारियल के सिरके के कुछ  ब्रांड सिरके को नारियल के सैप के बजाय पानी से बनाते हैं और ये उतने पौष्टिक नहीं हैं। खरीदने से पहले लेबल की जांच जरूर करें।

Recommended For You

Avatar

About the Author: Kusum Kaushal

कुसुम कौशल ने उत्तराखंड में स्थित विश्वविद्यालय (हेमवती नंदन बहुगुणा यूनिवर्सिटी) से इकोनॉमिक्स में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है। हिंदी उनकी मूल भाषा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
Table of Content