glass of water पानी पीने का सही तरीका क्या है ?
पढ़ने के लिए समय चाहिए: 2 मिनट

मानव शरीर में लगभग 60% पानी होता है।पानी को अक्सर स्वस्थ रहने का आवश्यक हिस्सा माना जाता है। पानी पूरे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाता है,,आहार के पाचन ,शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने ,शरीर की अंदरूनी सफाई ,अंगों की सुचारु कार्यप्रणाली ,यह मस्तिष्क, रीढ़ की हड्डी और अन्य संवेदनशील ऊतकों की रक्षा करने आदि में सहायक होता है।  

एक दिन में पी जाने वाली पानी की मात्रा हर व्यक्ति की भिन्न भिन्न होती है, जो इस बात पर निर्भर करती है कि वे कितने सक्रिय हैं, कितना पसीना बहाते हैं। एक युवा या प्रौढ़ को कम से कम सात गिलास पानी पीना चाहिए। 

पानी पीते वक्त हमें किन किन बातों को ध्यान में रखना चाहिए ताकि हम इसका सही लाभ उठा सकें चलिए उन्हें जानते हैं। 

पानी हमेशा बैठ कर पियें 

आयुर्वेद और प्राकृतिक चिकित्सा विज्ञान के अनुसार, जब हम खड़े होकर पानी पीते हैं, तो पानी जल्दी से बृहदान्त्र (colon)में चला जाता है, जिससे पानी में पोषक तत्वों का पूरा फ़ायदा शरीर को नहीं मिल पाता। 

घूंट घूंट करके पानी पियें

 पानी को एक साथ सारा ना पी कर घूंट घूंट करके पीने के कुछ कारण हैं  – जैसे की  हमारी लार(saliva ) की प्रकृति  क्षारीय होती है और पानी को लार के साथ मिलने के लिए समय देना चाहिए, ताकि यह हमारे पेट में एसिड को स्थिर कर सके। घूंट घूंट करके पानी पीना  पाचन तंत्र को शांत करता है । एक बार में पानी पी लेना पाचन को ख़राब कर सकता है। 

बहुत ज्यादा ठंडा पानी न पिएं

सामान्य  तापमान का  पानी पीना  सबसे अच्छा माना गया है क्योंकि यह हमारी  प्यास को ठंडे पानी की तुलना में बेहतर संतुष्ट करता है।ज्यादा ठंडा पानी पाचन रस को ख़त्म कर सकता है। आयुर्वेद के अनुसार, भोजन के साथ ठंडा पानी आपके पाचन के लिए विषाक्त हो सकता है।

भोजन से पहले बहुत अधिक पानी न पिएं

यदि हम भोजन से ठीक पहले पानी पीते हैं, तो हमारा पेट बहुत अधिक पानी से भर जाएगा। यह पाचन क्रिया करने के लिए आपके पेट को पर्याप्त जगह नहीं देगा। आयुर्वेद के अनुसार ,हमारा पेट 50 प्रतिशत भोजन, 25 प्रतिशत पानी से भरा होना चाहिए, और 25 प्रतिशत पाचन प्रक्रिया  के लिए खाली रखना  चाहिए।

सुबह उड़ते ही सबसे पहले पानी पियें

आयुर्वेद का सुझाव है कि सुबह  सबसे पहले पानी पीने की एक स्वस्थ आदत बनायें ,यह आदत शरीर में कई बीमारियों से छुटकारा पाने में मदद करती  है। सुबह पानी पीने से शरीर के सभी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है और आंतों की सफाई होती है।

इसके अलावा मूंगफली ,फलों ,आइस्क्रीम जैसी ठंडी चीज़ों के बाद ,चाय कॉफ़ी के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए। 

Kusum Kaushal
Kusum Kaushal
इंग्लिश टू हिंदी ट्रांसलेटर और ब्लॉगर : ....और जानें
Translate
error: Sorry, the content is protected !!