वीगन डाइट क्या है – लोग इसे क्यों अपना रहें हैं ?

vegan diet वीगन डाइट क्या है - लोग इसे क्यों अपना रहें हैं ?
पढ़ने के लिए समय चाहिए: 4 मिनट

आज कल बहुत से लोग मांसाहार छोड़ कर वेगन आहार को अपना रहे हैं। वेगन डाइट क्या है और इसे अपनाने के क्या फायदे हैं , इसी के बारे में हम इस लेख में चर्चा करेंगे।

वेगन डाइट पौधों पर आधारित आहार होता है इसमें  मांस, डेयरी और अंडे सहित किसी भी प्रकार के पशु उत्पादों को शामिल नहीं किया जाता। कुछ लोग शहद खाने से भी बचते हैं। जब इसका सही तरीके से पालन किया जाता हैं, तो वेगन आहार अत्यधिक पौष्टिक होता है, यह पुरानी बीमारियों को भी ठीक कर सकता है और वजन घटाने में सहायता करता है।

वेगन डाइट पोषक तत्वों से भरपूर है और इसमें सेचुरेटेड फैट कम होता है। शोध में पता चला है की यह डाइट हृदय स्वास्थ्य में सुधार कर सकती है ,कैंसर से बचाव कर सकती है और टाइप 2 मधुमेह का खतरा कम कर सकती है।

वेगन डाइट लेने वाले लोगों को कुछ पोषक तत्वों को प्राप्त करने के बारे में अधिक जागरूक होना चाहिए, जिसमें आयरन , कैल्शियम और विटामिन बी -12 शामिल हैं, जो आमतौर पर एक सर्वाहारी आहार से मिलते हैं।

वेगन एवं शाकाहारी आहार में अंतर 

वेगन और शाकाहारी लोगों के बीच मुख्य अंतर यह है कि शाकाहारी मांस नहीं खाते हैं पर वे डेयरी उत्पादों, अंडे या दोनों का सेवन करते हैं। पर वेगन आहार लेने वाले पशु आधारित सामग्री या उत्पादों का सेवन भी नहीं करते है।

वेगन आहार अधिक प्रतिबंधात्मक है, इसलिए जो इसे अपनाते हैं उनको यह सोचने की आवश्यकता होगी कि उन्हें पोषक तत्व कहां से प्राप्त करने हैं। उसके अनुसार वे अपने दैनिक आहार आवश्यकताओं को पूर्ण करते हैं।

वेगन डाइट अपनाने के लाभ 

वेगन डाइट उन सभी पोषक तत्वों को प्रदान कर सकते हैं जिनकी हमे आवश्यकता होती है, और ये कुछ संभावित जोखिमों को समाप्त करती हैं जिसे अनुसंधानों में हानिकारक पशु फैट के साथ जोड़ा गया है।

1.हृदय स्वास्थ्य के लिए बेहतर है

वेगन आहार कई तरह से हृदय स्वास्थ्य को बढ़ाती है।

2019 में बड़े पैमाने पर अध्ययन किया गया और पाया गया की जो लोग पौधों पर आधारित खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन करते हैं उन वयस्कों में हृदय रोग का जोखिम कम होता है। 

 मांस, पनीर और मक्खन सहित कई पशु सम्बन्धी उत्पाद – सेचुरेटेड फैट के मुख्य आहार स्रोत हैं। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार, इन फैट वाले खाद्य पदार्थों को खाने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ सकता है। कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर से हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ जाता है।

पौधों पर आधारित खाद्य पदार्थ फाइबर के सबसे अच्छे स्रोत होते हैं, जो हृदय स्वास्थ्य को अच्छा रखते हैं। फल ,सब्जियां और वेगन आहार लेने वालों का वज़न भी नियंत्रित रहता है।

2.कैंसर का खतरा कम

2017 के एक अध्ययन के अनुसार, वेगन डाइट खाने वाले व्यक्ति में कैंसर का खतरा 15% तक कम हो जाता है। यह स्वास्थ्य लाभ इस तथ्य के कारण हो सकता है कि पौधों के खाद्य पदार्थ फाइबर, विटामिन और फाइटोकेमिकल्स अधिक होते हैं जो कैंसर से बचाते हैं।

3.वजन नियंत्रित रखना

अन्य आहारों को लेने वाले लोगों की तुलना में वेगन आहार खाने वाले लोगों का बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) कम होता है।

2015 के एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने बताया कि वेगन आहार ,अर्ध-शाकाहारी ,सर्वाहारी और पेसको-शाकाहारी आहार की तुलना में वजन घटाने के लिए अधिक प्रभावी होने के साथ-साथ मैक्रोन्यूट्रिएंट प्रदान करने का बेहतर स्रोत्र होता है। 

कई पशु आधारित खाद्य पदार्थ में फैट और कैलोरी उच्च मात्रा में होती है, इसलिए इनके स्थान पर कम कैलोरी वाले पौधे पर आधारित खाद्य पदार्थों लेने से उनको वजन नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि बहुत से पौधों पर आधारित प्रोसेस्ड या उच्च फैट वाले पदार्थ खाने से जिन्हे (शाकाहारी जंक फूड आहार के रूप में संदर्भित किया जाता है ) अस्वास्थ्यकर वजन बढ़ सकता है।

4.टाइप 2 मधुमेह का कम जोखिम

2019 की एक बड़ी रिसर्च के अनुसार, पौधे पर आधारित आहार लेने से टाइप 2 मधुमेह का खतरा कम हो जाता है। फल, सब्जियां, साबुत अनाज, नट्स और फलियां सहित स्वास्थ्यप्रद पौधों पर आधारित खाद्य पदार्थ खाने से इसका खतरा कम हो जाता है।

कई लोग जिन्होंने पूरी तरह से वेगन आहार को अपनाया है ,उनको इस आहार के द्वारा हृदय रोग, मधुमेह और कैंसर के विभिन्न रूपों की प्रगति को रिवर्स करने में मदद मिली है। इन्ही लाभों को देखते हुए कई लोग आज कल वेगन आहार को अपना रहे हैं।  

वेगन डाइट अपनाने पर किन पोषक तत्वों पर ध्यान देना चाहिए

वेगन डाइट लेने पर आहार से पोषक तत्वों के कुछ स्रोतों को हटाना पड़ता है , इसलिए पोषण संबंधी इन कमियों से बचने के लिए भोजन की सावधानीपूर्वक योजना बनाने की आवश्यकता होती है। वेगन आहार को अपनाने से पहले डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ से सलाह लेनी जरूरी है , खासकर तब जबकि आपको कोई स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानी हो।

वेगन आहार में कुछ पोषक तत्वों को पूर्ण करने की आवश्यकता होती है जैसे –  

  • विटामिन बी -12: विटामिन बी -12 मुख्य रूप से पशु उत्पाद फूड्स में मौजूद होता है। यह नर्व और लाल रक्त कोशिकाओं की रक्षा करता है। वेगन डाइट अपनाने वाले इसे फोर्टिफाइड सीरियल्स और प्लांट मिल्क , न्यूट्रिशनल यीस्ट या  यीस्ट स्प्रेड्स ,चावल से प्राप्त कर सकते हैं। 
  • आयरन: आयरन खून के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। बीन्स और गहरे हरे पत्ते वाली सब्जियां इसका अच्छा स्रोत हैं।
  • कैल्शियम: हड्डियों को मज़बूत रखने के लिए कैल्शियम महत्वपूर्ण है। टोफू, ताहिनी और पत्तेदार सब्जियां खाने से कैल्शियम प्राप्त किया जा सकता है।
  • विटामिन डी: विटामिन डी कैंसर से बचाता है और यह हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाने में मदद करता है। नियमित रूप से फोर्टिफाइड खाद्य पदार्थ खाने और धूप लेने से विटामिन डी प्राप्त किया जा सकता है।  
  • ओमेगा -3 फैटी एसिड: हृदय, आंख और मस्तिष्क के कार्य के लिए महत्वपूर्ण होता है।अखरोट और फ्लैक्ससीड इसके अच्छे स्रोत हैं।  
  • जिंक: जिंक इम्मयून सिस्टम और डीएनए क्षति की मरम्मत के लिए महत्वपूर्ण है। बीन्स, खमीर, नट्स और जई इसके अच्छे स्रोत्र हैं।
Kusum Kaushal
Kusum Kaushal
इंग्लिश टू हिंदी ट्रांसलेटर और ब्लॉगर : ....और जानें
Translate
error: Sorry, the content is protected !!