tulsi सौंदर्य के लिए तुलसी एक चमत्कारी पौधा
पढ़ने के लिए समय चाहिए: 4 मिनट

तुलसी को हमारे देश में एक पवित्र पौधे के रूप में जाना जाता है। संस्कृत में, तुलसी का अर्थ है “अतुलनीय”। सदियों से तुलसी सबसे स्वास्थ्यप्रद, पवित्र और अद्भुत औषधीय आयुर्वेदिक जड़ी बूटी रही है। इसके ना केवल स्वास्थ्य सम्बन्धी अद्भुत लाभ हैं, बल्कि बेहतरीन सौंदर्य लाभ भी हैं। 

 बालों के लिए लाभ 

 लंबे, चमकदार स्वस्थ बालों के लिए तुलसी के गुण इस प्रकार हैं –  

1. बालों का झड़ना रोकती है

आज कल बालों का झड़ना एक आम समस्या है, खासकर युवाओं में, तुलसी बालों के झड़ने को रोकने में मदद करती है, क्योंकि यह स्केल्प में खुजली को कम करती है और ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाती है।

2. समय से पहले बालों का सफ़ेद होना रोकती है

तुलसी का यह सबसे अच्छा सौंदर्य लाभ है, क्योंकि तुलसी में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट बालों का समय से पहले सफ़ेद होना और बालों का झड़ना रोकने का इलाज करने में बहुत उपयोगी है। तुलसी की पत्तियां और सूखे आंवलों को पानी में भिगोकर रख दें सुबह इसे छानकर इस पानी से बाल धोने से बाल झड़ने बंद हो जाते हैं और सफ़ेद बाल भी धीरे धीरे काले होने लगते हैं ।

3. स्कैल्प को स्वस्थ रखती है

स्वस्थ बाल स्वस्थ स्केल्प में होते हैं। रूसी और अन्य विभिन्न प्रकार के स्केल्प संक्रमणों के कारण अत्यधिक बाल गिरते हैं। तुलसी स्केल्प संक्रमणों का इलाज करने और बालों के झड़ने से छुटकारा दिलाने का पूर्ण समाधान है। तुलसी के एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल लाभ स्केल्प को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं, जबकि एंटी इंफ्लेमेटरी गुण स्केल्प के सूखेपन और खुजली से राहत देते हैं। तुलसी खोपड़ी में ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करने में मदद करती है। जिससे बालों को पोषण मिलता है और वे चमकदार बनते हैं।  

4. डैंड्रफ से छुटकारा दिलाती है 

रूसी के कारण बाल झड़ने लगते हैं। तुलसी स्केल्प में नमी बनाए रखने में मदद करती है, ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करती है, खुजली और ड्राईनेस को कम करती है, बालों के रोम को मजबूत करती है और जड़ों को स्वस्थ बनाती है।

त्वचा के लिए लाभ 

बेदाग़, दमकती और मुँहासे मुक्त त्वचा के लिए तुलसी अपनाएं। तुलसी के पत्ते  त्वचा की सुंदरता के लिए अद्भुत हैं। एंटीसेप्टिक गुण होने के कारण, यह त्वचा सम्बन्धी कई समस्याओं और स्थितियों के लिए बहुत उपयोगी है।

1. मुहासों के लिए  

अपने प्राकृतिक एंटी-इन्फ्लमेट्री , एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुणों के कारण, तुलसी मुहासों से छुटकारा दिलाने ने के लिए चमत्कार की तरह काम करती है। यह मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को ख़त्म करती है और छिद्रों को कीटाणुरहित करती है।इसका प्रयोग मुहासे दूर करने वाली क्रीम और पैक में किया जाता है। तुलसी के पत्ते रक्त को शुद्ध करने में सहायक होते हैं, जो मुहांसों से छुटकारा पाने के साथ-साथ त्वचा के अन्य संक्रमणों से भी छुटकारा दिलाते है।

2.  स्किन क्लींजिंग 

तुलसी में अस्ट्रिन्जन्ट गुण भी हैं, इसलिए यह अतिरिक्त तेल और नमी को सोखने में मदद करती  है, त्वचा की गहरी सफाई करती है, त्वचा को टाइट रखने में भी मदद करती है। तुलसी की पत्तियों का रस और नींबू का रस बराबर मात्रा में मिलाकर रात को चेहरे पर लगाने से झाइयां दूर हो जातीं हैं और चेहरे की रंगत निखर जाती है ।

 3. एंटी -एजिंग गुण

एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होने के कारण तुलसी त्वचा के समय से पहले बूढ़े होने के प्रभाव को ठीक कर सकती है। एंटी इन्फ्लमेट्री , एंटी-माइक्रोबियल, एंटी-बैक्टीरियल और तनाव बस्टर होने के कारण, यह न केवल मुक्त कणों को बेअसर करने में मदद करती है, बल्कि हमारे शरीर में एंटी-ऑक्सीडेंट एंजाइम प्रणाली को संतुलित कर सकती है। यह त्वचा को फिर से जीवंत करने में मदद करती है। तुलसी की सूखी पत्तियों को पीसकर उसका गाढ़ा लेप चेहरे पर लगाने से त्वचा के छिद्र खुल जाते हैं और चेहरे की कांति बढ़ जाती है ।    

4.  निखरी और ग्लोइंग त्वचा के लिए 

तुलसी प्रभावी रूप से त्वचा में निखार लाती है। तुलसी  त्वचा की डीप क्लींजिंग करती है और  त्वचा के दाग भी ठीक करती है। इसका डिटॉक्सिफाइंग प्रभाव, प्रदूषण, सूरज की किरणों, तनाव और त्वचा संक्रमण के प्रभावों को कम करता है। तुलसी में मौजूद तेल त्वचा को मॉइस्चराइज और पोषण देने में मदद करता है और रंगत को निखारता है। तुलसी और नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर सुबह शाम लगाने पर काले धब्बे दूर होते हैं ।

5. संक्रमण से त्वचा की रक्षा करती है 

तुलसी अपने एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-बायोटिक और एंटी-फंगल गुणों के कारण त्वचा को संक्रमण से दूर रखने में कारगर साबित होती है।

6. ब्लैकहेड्स के लिए  

ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स  त्वचा की सामान्य समस्याएं हैं, जो समय पर इलाज न होने पर मुंहासों का कारण बन सकती हैं। तुलसी उन्हें हटाने में अद्भुत काम करती है। ब्लैकहेड्स या व्हाइटहेड्स त्वचा की सतह पर खुली मृत त्वचा कोशिकाएं होती हैं। तुलसी के एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण इन समस्याओं को आसानी से खत्म कर देते है। तुलसी में कैफीन होता है, जो एक प्राकृतिक टोनर के रूप में काम करता है और अतिरिक्त तेल, त्वचा की मृत कोशिकाओं और अन्य अशुद्धियों को हटाने में मदद करता है। 

Kusum Kaushal
Kusum Kaushal
इंग्लिश टू हिंदी ट्रांसलेटर और ब्लॉगर : ....और जानें
Translate
error: Sorry, the content is protected !!