देसी घी की शुद्धता की जाँच

देसी घी को गरम करके जाँच

सबसे सरल उपायों में से एक यह है, एक बर्तन में एक चम्मच घी गर्म करें  यदि घी तुरंत पिघल जाता है और गहरे भूरे रंग में बदल जाता है, तो यह शुद्ध गुणवत्ता का है। हालांकि, अगर पिघलने में समय लगता है और हल्के पीले रंग में बदल जाता है, तो यह शुद्ध नहीं है।

हथेली पर घी को रख कर जाँच

अपनी हथेली पर एक चम्मच घी डालें यदि आपकी हथेली पर घी पिघल जाता है, तो यह शुद्ध है।

बोतल में डालकर जाँच

एक पारदर्शी बोतल में एक चम्मच पिघला हुआ घी लें और इसमें एक चुटकी चीनी मिलाएं। कंटेनर को बंद करें और इसे जोर से हिलाएं । इसे पांच मिनट तक पड़ा  रहने दें। यदि बोतल के नीचे एक लाल रंग दिखाई देता है, तो घी में वनस्पति तेल होता है।

घी में शकरकंद, मसले हुए आलू और अन्य किसी स्टार्च की  मिलावट के लिए टैस्ट

जाँच के लिए चाहिए : आयोडीन घोल

विधि: एक बर्तन में थोड़ी मात्रा में घी पिघलाएं। घी में आयोडीन घोल की कुछ बूंदें मिलाएं।

यदि आयोडीन का घोल, जो कि भूरे रंग का है, बैंगनी हो जाता है, तो घी में मसला हुआ आलू या शकरकंद जैसे स्टार्च की मिलावट होती है।

Recommended For You

About the Author: Kusum Kaushal

कुसुम कौशल ने उत्तराखंड में स्थित विश्वविद्यालय (हेमवती नंदन बहुगुणा यूनिवर्सिटी) से इकोनॉमिक्स में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है। हिंदी उनकी मूल भाषा है।
Translate »