धनिया और पुदीने की चटनी को लंबे समय तक ताज़ा कैसे रखें

जब भी हम धनिये, पुदीने की चटनी बनाते हैं, तो एक- दो दिन के बाद उसका रंग और स्वाद बदल जाता है। हरी चटनी को लंबे समय तक ताज़ा कैसे बनाये रखें आइये जानते हैं।

धनिया के फायदे जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान, डायबिटीज, पाचन, किडनी, एनीमिया, आंखों के लिए है फायदेमंद! 

पुदीना कफ और वात दोष को कम करता है, भूख बढ़ाता है । पुदीने का प्रयोग मल-मूत्र संबंधित बीमारियों और शारीरिक कमजोरी दूर करने के लिए भी किया जाता है। यह दस्त, पेचिश, बुखार, पेट के रोग, लीवर आदि विकार को ठीक करने के लिए भी उपयोग में लाया जाता है।

 समाग्री : 

  • एक बंच धनिये के पत्ते 
  • एक बंच पुदीने के पत्ते  
  • 1 से 2 चम्मच नीबू का रस 
  • 1/2 चम्मच चीनी 
  • 4 हरी मिर्च 
  • 4 लहसुन की कली 
  • जीरा पॉउडर 
  • 1/2 कटोरी दही  
  • नमक स्वाद अनुसार 

विधि :  

पुदीने और धनिये की चटनी बनाने के लिये ऊपर दी गयी सभी समाग्री को मिक्सर में डाल कर मिक्स कर ले और चिकना पेस्ट बना लें। अगर पानी की जरूरत पड़े तो डाल दीजिए। अब बन गयी आपकी धनिये और पुदीने की चटनी। अब आप को जितनी जरुरत हो रखे बाकी आप फ्रीज़र में एयर टाइट बॉक्स में डाल कर रख दें । जब आपको चटनी इस्तेमाल करनी हो तो आप 5 घंटे पहले चटनी को फ्रीजर में से निकाल कर रख दें। आप को चटनी फिर से फ्रेश दिखेगी और स्वाद में भी कोई अंतर नहीं आएगा।  

Recommended For You

About the Author: Saba Kazi

Translate »