घर में सकारात्मक ऊर्जा के लिए टिप्स

sun light in home घर में सकारात्मक ऊर्जा के लिए टिप्स
पढ़ने के लिए समय चाहिए: 3 मिनट

हमारा घर हमारी अपनी स्पेस है। जहाँ हम दिन भर काम करने के बाद सुकून चाहते हैं। यह वह जगह है, जहां हम आराम करते हैं, और अपने परिवार के साथ समय बिताते हैं, जहाँ हम बाहरी दुनिया से शांति पाना चाहते हैं, लेकिन अगर घर शांत, सुरक्षित जगह के स्थान पर एक वॉरज़ोन की तरह महसूस होता है। तो समझ लीजिये की घर नकारात्मक ऊर्जा (negative energy ) की चपेट में है।

यह घर में तनावपूर्ण वातावरण का कारण बन सकती है, आपकी सोच को भी नकारात्मक बना सकती है, क्यूंकि हम जिस वातावरण में रहते हैं, उसका प्रभाव हमारी सोच पर भी पड़ता है।

घर में नेगेटिव एनर्जी को कैसे पहचाने  –

  • आप अपने घर में कैसा महसूस करते हैं, इस पर ध्यान दें। घर में शांतिपूर्ण, स्वागत करने वाला भाव होना चाहिए। यदि ऐसा नहीं है या घर में आप लम्बे समय तक असहज महसूस करते हैं या फिर वह बार बार लड़ाई का मैदान बनता है, तो आपके आस पास की इस भयानक एनर्जी को हटाने की आवश्यकता है। 
  • यदि आप स्वस्थ्य होते हुए भी घर में अक्सर परेशान, उदास और थका हुआ महसूस करते हैं, तो यह नेगेटिव एनर्जी के कारण हो सकता है।
  • बिना किसी कारण के भावुक हो जाना, रोना और अशांत महसूस करना।

इससे पहले की यह नेगेटिव एनर्जी हम पर भारी पड़े हमें इसे सकारात्मकता (positivity ) में बदलकर दूर करना होगा।

घर में सकारात्मक ऊर्जा (positive energy ) को कैसे बनाये रखें, इसके कुछ आसान टिप्स की बात हम यहाँ करेंगे क्यूंकि पॉजिटिव एनर्जी हमें अच्छा महसूस कराती है, हमारे मूड को ताज़ा रखती है।

सकारात्मकता का हमारे जीवन में बहुत महत्व है, इससे हम जीवन के हर पहलू में सुधार और विकास कर सकते हैं। सकारात्मक वातावरण में हर समस्या का समाधान बखूबी किया जा सकता है। सकारात्मकता घर के वातावरण में शांति बनाती है, जिससे आंतरिक शान्ति मिलती है और हम खुश रहते हैं।

घर के कबाड़ को निकालें 

घर से बेकार की चीज़ों को निकालना बहुत आवश्यक है। उदाहरण के लिए – पुराने समाचार पत्र, पत्रिकाएँ, टूटी हुई घड़ियाँ,  खाली डिब्बे  या पेन आदि अनचाही चीजें नकारात्मक ऊर्जा लाती हैं। उन चीजों को घर से बाहर निकालें जो उपयोग में नहीं आ रही हैं।

सोने की दिशा

सोते समय सिर दक्षिण की तरफ रखकर सोना अच्छा है। वास्तु के अनुसार, यह स्थिति समृद्धि और खुशी के साथ जुड़ी हुई है, अच्छी और गहरी नींद के साथ भी।   

सूरज की रोशनी

सूरज की रोशनी एक महत्वपूर्ण वास्तु कारक है। पूरे घर में सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने के लिए सूर्य की किरणें बहुत महत्वपूर्ण हैं। यह माना जाता है कि सूर्य की किरणें घर से नकारात्मक ऊर्जा को खत्म करती हैं।

शयन कक्ष में दर्पण

बेडरूम एक ऐसी जगह है जहाँ हम आराम करते हैं। वास्तु के अनुसार, दर्पण मुख्य रूप से बेड के सामने नहीं होना चाहिए। इसके अलावा, दर्पण को बिस्तर के समानांतर भी नहीं होना चाहिए क्योंकि यह स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं  का कारण बन सकता है। 

सुबह शाम सुगन्धित वातावरण 

रोज सुबह और शाम कुछ अगरबत्ती, मिट्टी के दीपक और मोमबत्तियां जलाएं। ये घर की  किसी भी नकारात्मक ऊर्जा को हटाने के लिए क्लींजर का काम करते हैं।

घर में फूल – पौधे लगाएं 

घरों में पौधों को लगाने के कई लाभ हैं। यह वायु की गुणवत्ता में सुधार लाने के अलावा, स्थान की सुंदरता बढ़ाते हैं, बीमार या बुजुर्ग रोगियों की  मानसिक स्थिति में सुधार लाते हैं। आप कम देखभाल की आवश्यकता वाले पौधों को चुन सकते हैं। रंग बिरंगे खिले फूल पॉजिटिव एनर्जी देते हैं।

दीवार पर कलाकृति लगाएं

ऐसी कलाकृति लगाएं जो आपको प्रेरित महसूस कराये , जिनमें आशा, आनंद और प्रेम के भाव हों – ये आपको ऊर्जावान और सशक्त महसूस कराएगी। उन्हें अपने कमरे के केंद्र बिंदु में रखें ताकि आप हमेशा उन्हें देख पाएं और उनके संदेश को ले पाएं।

घर की खिड़कियों को खुला रखें 

घर में ताज़ी हवा के लिए खिड़कियों को खुला रखें। खिड़कियां खोलने से किसी स्थान की सकारात्मकता पर अच्छा प्रभाव पड़ता है।

यह कुछ आसान से उपाय हैं, जिन्हे अपनाकर हम अपने घर का वातावरण पॉजिटिव बना सकते हैं।

Kusum Kaushal
Kusum Kaushal
इंग्लिश टू हिंदी ट्रांसलेटर और ब्लॉगर : ....और जानें
Translate
error: Sorry, the content is protected !!